WTC 2023 का फाइनल नहीं खेल पायेंगे केएल राहुल, अब ये टॉप 5 भारतीय खिलाड़ी ले सकते है उनकी जगह, लिस्ट में एक खेल चूका है 21 अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट मैच

रोहित शर्मा की कप्तानी वाली भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम को IPL के ठीक बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ WTC 2023 का फाइनल खेलना है. जोकि 7 से 11 जून तक लंदन के द ओवल क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाएगा. इसके लिए भारतीय टेस्ट टीम के स्क्वाड का एलान भी बीते दिनों हो चूका है, जिसमे अजिंक्य रहाणे जैसे खिलाड़ी की भी वापसी हुई है. लेकिन अब IPL के बीच भारतीय टेस्ट टीम को ‘के एल राहुल’ के रूप में बड़ा झटका लगा है.

दरअसल, उन्हें बीते दिनों RCB के खिलाफ हुए एक मैच में फील्डिंग के दौरान चोट लग गई थी, जिसके बाद वो अगले मैच से बाहर हो गये थे. लेकिन अब खबर आ रही है की उनकी चोट गंभीर है. उन्हें अपनी जांघ की सर्जरी करवानी पड़ेगी. ऐसे में अब वो ना तो आईपीएल के बाकी मैच खेल पायेंगे और नाही WTC के फाइनल के लिए टीम इंडिया के साथ जुड़ पाएंगे. इस बात की जानकारी खुद उन्होंने एक इन्स्ताग्राम पर पोस्ट करके दी है.

लेकिन अब सवाल उठता है की के एल राहुल के WTC से बाहर हो जाने के बाद टीम में किस भारतीय खिलाड़ी को शामिल किया जायेगा? ऐसे में अब हम आपको 5 ऐसे भारतीय खिलाड़ियों के बारे में बताने वाले है, जिन्हें WTC के फाइनल में मौका दिया जा सकता है. तो चलिए जानते है…

मयंक अग्रवाल:-

इस लिस्ट में सबसे पहला नाम मयंक अग्रवाल का आता है. दरअसल, मयंक अग्रवाल भारत के लिए 21 टेस्ट खेल चुके है और टीम के लिए अच्छी ओपनिंग कर चुके है. ऐसे में अनुभव के हिसाब से इन्हें मौका दिया जा सकता है. एक प्लस पॉइंट ये भी है की इन्होने रणजी 2022-23 में 3 पारियों में 82.50 के औसत से तीन शतकों और छह अर्द्धशतकों की मदद से सर्वाधिक 990 रन बनाए है. इसके अलावा मयंक के पास ऑस्ट्रेलिया के स्टार गेंदबाज पैट कमिंस, जोश हेजलवुड और मिचेल स्टार्क की ऑस्ट्रेलियाई तिकड़ी का सामना करने का अनुभव है. ऐसे में इन्हें मौका देना टीम के लिए बेहतर साबित हो सकता है.

सरफराज खान:-

मयंक अग्रवाल के बाद सरफराज ऐसे भारतीय बल्लेबाज है जिन्हें के एल राहुल की जगह मौका दिया जा सकता है. क्योकि इनका भी घरेलु क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन रहा है. हालाँकि, ये आईपीएल में अपने प्रदर्शन से चयनकर्ताओं को खुश नहीं कर पाए है. लेकिन रणजी ट्रॉफी में इनका कमाल का रिकॉर्ड है. सरफराज ने रणजी ट्रॉफी 2022-23 में 9 पारियों में तीन शतकों और एक अर्धशतक के साथ 556 रन बनाए थे, इस दौरान इनका  औसत 92.66 रहा है. इतना ही नहीं इन्होने 2019 से लेकर अब तक रणजी ट्रॉफी में 123.3 के औसत से 2466 रन बनाए हैं, जिसमें 10 शतक और पांच अर्द्धशतक शामिल हैं. ऐसे में इनके इस प्रदर्शन को देखते हुए इन्हें मौका दिया जा सकता है. हालाँकि, इन्होने अभी तक क्रिकेट के किसी भी फोर्मेट में अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू नहीं किया है.

अभिमन्यु ईश्वरन:-

जी हां, इस रेस में अभिमन्यु ईश्वरन भी आगे है. हालाँकि, इन्हें भी अभी अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका नहीं मिला है. लेकिन इन्हें दिसंबर 2022 में बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय क्रिकेट टीम में चुना गया था, हालाँकि, डेब्यू का मौका नहीं मिला लेकिन इस 27-वर्षीय बल्लेबाज ने रणजी ट्रॉफी 2022-23 में 14 पारियों में 66.50 की औसत से तीन शतकों और तीन अर्द्धशतकों की मदद से 798 रन बनाए थे. इसके अलावा बांग्लादेश में भारत A के लिए तूफानी प्रदर्शन किया था.

ये दो बल्लेबाज भी है रेस में आगे:-

इन तीनो के अलावा ईशान किशन और ऋतुराज गायकवाड़ को भी के एल राहुल की जगह WTC में खेलना का मौका मिल सकता है. हालाँकि, इन्हें भी अभी अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट का कोई अनुभव नहीं है लेकिन इन दोनों बल्लेबाजो का  टी -20 और वनडे में अच्छा प्रदर्शन कर चुके है. ईशान किशन दो दुहरा शतक भी लगा चुके है. इसके अलावा जहाँ ईशान किशन अभी तक 48 फर्स्ट क्लास मैच खेले चुके है, जिनमे 38.76 की औसत से छह शतक और 16 अर्धशतक के साथ 2985 रन बनाए हैं. तो वही ऋतुराज गायकवाड़ अभी तक 26 फर्स्ट क्लास मैच खेल चुके हैं, जिनमे 42.19 की औसत से 1941 रन बनाए हैं.

Share:

Leave a Comment

Kuldeep Singh

Kuldeep is an emerging talent in the field of cricket writing and he has been working for Cricket Reader as a Sub Editor and delivering news and opinion from the world of cricket.

More From: TOP 5/10