लेग साइड पर थे जड़ेजा, कप्तान धोनी ने दौड़ाया दिमाग… हार्दिक को फंसाने के लिए कुछ यूँ बुना जाल और फंस गये HP

महेंद्र सिंह धोनी, मैदान पर अपनी विस्फोटक बल्लेबाजी के अलावा अपनी शातिर कप्तानी के लिए जाने जाते है. ऐसा हमने कई बार देखा है, जब उन्होंने विकेटों के पीछे खड़े होकर गेम बदलकर रख दिया है और जीत दुश्मन के जबड़े से छीन ली है. ऐसा ही कुछ इन्होने मंगलवार को गुजरात टाइटन्स के खिलाफ खेले गये प्लेऑफ के पहले मैच में किया है, जोकि अब काफी ज्यादा चर्चा का विषय बना हुआ है. फैंस भी धोनी के कप्तानी वाली दिमाग की तारीफ करते नहीं थक रहे है.

दरअसल, इस मैच में जब गुजरात टाइटन्स के कप्तान हार्दिक पांड्या 6 गेंदों में 8 रन बनाकर खेल रहे थे, तब धोनी ने एक ऐसी चल चली, जिसके बारे में हार्दिक सबकुछ जानते हुए भी अपना विकेट गवां बैठे. जी हां, इसका विडियो देखकर आप भी धोनी की तारीफ करने से नहीं रह पायेंगे. इसका विडियो आप निचे देख सकते है.

धोनी के रहते नहीं टिक पाए हार्दिक:-

लेकिन उससे पहले आपको बता दे की GT के 22 के टोटल पर रिद्धिमान साह 12 रन बनाकर आउट हो गये थे, इसके बाद क्रीज़ पर कप्तान हार्दिक का आगमन हुआ. लेकिन धोनी की कप्तानी के आगे हार्दिक ज्यादा देर नहीं टिक पाई. उनका विकेट धोनी की शातिर कप्तानी की बदौलत पारी के छठे ओवर की 5 वीं गेंद पर गिरा. दरअसल, इस ओवर को महीश तीक्षणा डाल रहे थे.

धोनी ने चली तगड़ी चाल:-

तब ओवर की 5 वीं गेंद डालने से पहले धोनी ने दिमाग दौड़ाया और लेग साइड से एक फील्डर निकालकर, ऑफ साइड पर 30 यार्ड सर्कल के दायरे में एक फील्डर लगा दिया. इसके बाद हार्दिक भी रन बनाना चाहते थे तो उन्हें फील्डर्स के ऊपर से शॉट खेलना ही था, लेकिन गेंद आई चौथे स्टंप की लाइन पर तब हार्दिक ने इसे कट करना चाहा. लेकिन हर बार हो नहीं हो पाता जो आप चाहते है. यहां भी ऐसा हुआ. गेंद हवा में तैरने लगी तभी ऑफ साइड पर खड़े रवीन्द्र जड़ेजा ने कैच पकड लिया.

इसके बाद टाइटंस के कप्तान एक अहम मैच में सिर्फ 8 रन बनाकर आउट हो गए. अब इस घटना का विडियो सोशल मिडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. अ लोग माही की तारीफ़ कर रहे. लेकिन इस विकेट की सबसे खास बात ये रही, कि ये सब कुछ कप्तान हार्दिक के सामने हुआ फिर भी वह इससे बच नहीं पाए.

Share:

Leave a Comment

Kuldeep Singh

Kuldeep is an emerging talent in the field of cricket writing and he has been working for Cricket Reader as a Sub Editor and delivering news and opinion from the world of cricket.