महेंद्र सिंह धोनी ने बता दी अपनी टीम को सबसे बड़ी कमजोरी, अब विरोधी टीमें अम्ल करे तो सभी मैचो में CSK को दे सकती है करारी मात

इस बात से कोई इनकार नहीं कर सकता की महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट की दुनिया के सबसे बेहतरीन कप्तान है. क्योकि उन्होंने अपनी कप्तानी में भारत को 3 बार वर्ल्डचैंपियन बनाया है, इसके अलावा उन्होंने आईपीएल में भी अपनी टीम चेन्नई सुपर किंग्स को 4 बार आईपीएल का खिताब जीताया है. वही, अब आईपीएल 2023 में भी धोनी CSK के लिए शानदार तरीके से कप्तानी कर रहे है.

हालाँकि वो इस समय अपने घुटने की चोट से भी जूझ रहे है, उन्हें हाल ही में एक मैच के बाद लंगडाते हुए देखा गया था. इसके बाद भी धोनी कप्तानी कर रहे है और अपनी टीम को लगातार जीत दिला रहे है. वही, अब उन्होंने 17 अप्रैल को RCB के खिलाफ खेले गये 24 वें मैच में अपनी टीम को 8 रन से जीत दिलाई. लेकिन इस मैच में मिली जीत के बाद धोनी ने अपने ब्यान में अपनी ही टीम की कमजोरी भी बता दी.

जी हां, अब यदि विरोधी टीमें इसपर अम्ल करे तो वो धोनी की टीम को सभी मैचो में पछाड़ सकती है. महेंद्र सिंह धोनी ने अपने ब्यान में कहा-

“सब जानते है की यहाँ चिन्नास्वामी में विकेट कैसा होगा, इसके अलावा यहाँ ओस भी काफी होती है. ऐसे में आपको हमेशा अतिरिक्त रन बनाने होते है. यदि आप 150 से 160 का स्कोर करते हो तो मैच वही ख़त्म जायेगा. इसके आगे धोनी ने शिवम् दुबे को लेकर कहा, वो काफी लम्बे है और उनकी रिच भी अधिक है. वो एक अच्छे हीटर है और स्पिनर्स को शॉट लगा सकते है. लेकिन हां, वो पेस बोलर का अच्छे से सामना नहीं कर सकते.

इसके आगे धोनी ने कहा, “यदि आप 220+ का टारगेट सेट कर देते है तो विरोधी टीम के बल्लेबाजो को लगातार हिट करना होता है. यह बस कुछ ओवर्स की बात होती है. यदि फाफ और मैक्सी बने रहते तो वो लोग ये मैच 18वें ओवर तक ही जीत जाते, इसलिए आपको प्रोसेस के साथ जमे रहना होता है, पता रखिए कि बोलिंग चेंज क्या होंगे, किस एंड से क्या हो सकता है, क्या चल रहा है.”

“मैं इसे नजदीक से देखता हु, इसलिए मुझे पता होता है कि स्पिनर्स या पेसर्स को विकेट से कुछ मदद मिल रही है या नहीं. मैं हमेशा जरूरी चीजें करने के लिए तैयार रहता हूं, इसके आगे धोनी ने ड्वेन ब्रावो को याद किया और कहा, युवा गेंदबाज़ों को डेथ ओवर में हैंडल करना मुश्किल है, लेकिन ब्रावो ऐसे ओवरों के स्पेशलिस्ट हैं. आशा करता हु युवा गेंदबाज़ उनके साथ काफ़ी कुछ सीखेंगे.”

ये रहा मैच का हाल:-

खैर, आपको बता दे की 17 अप्रैल को RCB के खिलाफ खेले गये मैच में CSK ने पहले बल्लेबाजी करते हुए शिवम् दुबे और डिवॉन कांवे की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के दम पर 226 रन का विशालकाय स्कोर खड़ा किया था,. जिसे डू प्लेसिस की सेना चेज नहीं कर पाई और 8 विकेट के नुकसान पर 8 रन शोर्ट रह गई. लिहाजा, RCB को मैच में हार का सामना करना पड़ा. बता दे की RCB को इस IPL में 5 मैचो में तीसरी हार का सामना करना पड़ा है.

Share:
Kuldeep Singh

Kuldeep is an emerging talent in the field of cricket writing and he has been working for Cricket Reader as a Sub Editor and delivering news and opinion from the world of cricket.