शुभमन vs यशस्वी vs गायकवाड़? नंबर 3 पर कौन लेगा चेतेश्वर पुजारा की जगह? क्या कहते है आकड़े

चेतेश्वर पुजारा. भारतीय क्रिकेट टीम के लिए 100 से अधिक टेस्ट मैच खेलने वाले दिग्गज खिलाडियों में से है. इन्होने भी अपने समय में भारत के लिए कई मौको पर शानदार बल्लेबाजी की है, और सदा टीम इंडिया की दिवार बनकर खड़े रहे है. लेकिन अब इनका क्रिकेट करियर लगभग ख़त्म माना जा रहा है. यहाँ तक टीम इंडिया के सेलेक्टर्स ने भी इन्हें भारतीय स्क्वाड में चुनना बंद कर दिया है. मानों दूध में से मक्खी की तरह निकाल फेंका है. ऐसे में अब सवाल उठता है की टीम इंडिया में इनकी जगह कौन लेगा?

इसी के चलते आज हम आपको बताने वाले है की टीम इंडिया में शुभमन गिल, यशस्वी जायसवाल और रुतुराज गायकवाड़ में से कौन सा बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा की जगह लेगा? हालाँकि, ये तीनों सलामी बल्लेबाज है. लेकिन ये भी सच है की पारी की शुरुआत दो ही बल्लेबाज कर सकते है. अब चूँकि, रोहित शर्मा भी अपने करियर के अंतिम दौर से गुजर रहे है और शुभमन गिल, यशस्वी जायसवाल और रुतुराज गायकवाड़ का दौर शुरू होने जा रहा है.

ऐसे में एक खिलाड़ी बच ही जायेगा, जोकि नंबर 3 की पोजीशन पर आ सकता है. लेकिन वो खिलाड़ी कौन होगा? आइये समझते है.

सबसे पहले बात करे शुभमन गिल की तो शुभमन गिल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पिछले काफी समय से सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभा रहे है, और उन्होंने इस भूमिका में अपना शानदार प्रदर्शन भी करके दिखाया है. ऐसे में इनका 3 नंबर पर वापसी करना बेहद मुश्किल है. टीम इंडिया के लिए ठीक रहेगा की शुभमन जहाँ है वही रहे. लेकिन अब बात करे यशस्वी जायसवाल और रुतुराज गायकवाड़ की तो यशस्वी जायसवाल नंबर 3 पोजीशन के लिए परफेक्ट हो सकते है.

बता दे की पिछले एक दो साल में यशस्वी जायसवाल का तूफानी प्रदर्शन देखने को मिला है. जहाँ इन्होने आईपीएल में कमाल का प्रदर्शन करके दिखाया है तो वही घरेलु क्रिकेट में भी अपने बल्ले का जलवा बखूबी बिखेरा है. इन्होने शतक के अलावा दुहरा शतक और तिहरा शतक भी लगाया है. यानी इनके पास चेतेश्वर पुजारा की तरह क्रीज पर टिककर खेलने की काबिलयत है, साथ ही ये तेज गति से रन भी बनाते है. ऐसे में यशस्वी जायसवाल टीम इंडिया की अगली दिवार बन सकते है.

इनके बाद रुतुराज गायकवाड़ को नंबर 3 की पोजीशन दी जा सकती है. इनका भी पिछले एक दो साल में शानदार प्रदर्शन देखने को मिला है. इन्होने आईपीएल से लेकर फर्स्टक्लास क्रिकेट तक शानदार प्रदर्शन किया है. इन्होने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 28 मैच खेले हैं, जिनमे 40 से अधिक के औसत से 1941 रन बनाए हैं. इस दौरान 6 शतक और 9 अर्धशतक लगाये है. वही, जायसवाल ने 15 मैचों में उन्होंने 80.21 की औसत से 1845 रन बनाए हैं, जिसमें 9 शतक और 2 अर्द्धशतक शामिल हैं.

Leave a Comment

Kuldeep is an emerging talent in the field of cricket writing and he has been working for Cricket Reader as a Sub Editor and delivering news and opinion from the world of cricket.