जब महेंद्र सिंह धोनी की नकल करने के चक्कर में पाकिस्तानी कप्तान की इज्जत का हुआ था कबाड़ा, पूरी टीम को भुगतना पड़ा था हर्जाना

पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कप्तान बाबर आजम को भला कौन नहीं जानता? उन्होंने पिछले कुछ समय में पाकिस्तान के लिए काफी अच्छी क्रिकेट खेली है और उसके दम पर क्रिकेट की दुनिया में अपना एक अलग नाम कमाया है. लेकिन क्या आप जानते है की एक बार बाबर आजम को कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी की नकल करना काफी महंगा पड़ गया था. कुछ ही समय में उनकी इज्जत का सारा कबाड़ा हो गया था. यदि नहीं तो चलिए आज हम आपको बताते है.

सबसे पहले आपको बता दे की महेंद्र सिंह धोनी, क्रिकेट की दुनिया के सबसे बेहतरीन कप्तानों में शुमार है. इसके अलावा उन्होंने एक फिनिशर और विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर भी अपना एक अलग मुकाम हासिल किया है. उन्होंने अपने क्रिकेट करियर के दौरान ऐसे कई कारनामे किये है, जिन्हें करना किसी भी अन्य खिलाड़ी के लिए मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है. इसके बाद भी पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम ने धोनी की नकल करने की कोशिश की, जोकि उनके लिए महंगी पड़ी.

अल्जारी जोसेफ कर रहे थे बल्लेबाजी:-

दरअसल, ये बात पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच खेले एक मैच की है. उस मैच में इन दोनों टीमों के बीच कांटे की टक्कर हुई थी. इसी मैच में जब वेस्टइंडीज के अल्जारी जोसेफ बल्लेबाजी कर रहे थे, तब उन्होंने लेग साइड की तरफ एक बेहतरीन शॉट खेला. इसे पकड़ने के लिए पाकिस्तानी विकेटकीपर बल्लेबाज मोहम्मद रिज़वान ने एक हाथ का ग्लव्स उतारा और गेंद पकड़ने दौड़ पड़े.

इधर कप्तान बाबर आज़म विकेट को कवर करने के लिए पहुंचे. तब शायद वो धोनी की नकल कर स्टंपआउट करना चाहते थे. लेकिन बाबर ने बड़ी गलती करते हुए मोहम्मद रिज़वान का ग्लव पहन लिया और बॉल को स्टंप पर हिट करने चल दिए, इसके बाद क्या था उनका हर जगह मज़ाक बना.

बाबर को याद नहीं था नियम;-

यहाँ तक की मैदान पर मौजूद अंपायरों ने भी बाबर आज़म की खबर ली और कप्तान की गलती की सज़ा पूरी टीम को मिली. ना केवल टीम की फजीहत हुई, बल्कि 5 रन की पेनल्टी भी पड़ी. बाद में बाबर आजम ने बताया था की उन्हें इस नियम के बारे में जानकारी नहीं थी.

Leave a Comment

Kuldeep is an emerging talent in the field of cricket writing and he has been working for Cricket Reader as a Sub Editor and delivering news and opinion from the world of cricket.