पहले ठोका तूफानी शतक, फिर गेंद से मचाई तबाही.. संजू के चेले रियान पराग का ऐसा धमाल की बंद हुए आलोचकों के मुंह

रियान पराग. IPL में नाम तो सुना होगा? जिन्हें अच्छा प्रदर्शन ना करने के बाद भी राजस्थान रॉयल्स प्लेयिंग 11 में मौका देती है और बार बार देती है. जिसके बाद क्रिकेट फैंस भी खूब आलोचना करते है. अब उन्होंने घरेलु क्रिकेट में सभी का मुंह बंद कर देने वाली परफॉर्मेंस दी है. उन्होंने देवधर ट्रॉफ़ी के एक मैच में गेंद और बल्ले से तबाही मचा देने वाली परफॉर्मेंस दी है. जिसके बाद अब रियान पराग की खूब वाहवाही हो रही है. तो चलिए जानते है इनके प्रदर्शन के बारे में..

पहले ठोका तूफानी शतक, फिर गेंद से मचाई तबाही.. संजू के चले रियान पराग का ऐसा धमाल की बंद हुए आलोचकों के मुंह
पहले ठोका तूफानी शतक, फिर गेंद से मचाई तबाही.. संजू के चले रियान पराग का ऐसा धमाल की बंद हुए आलोचकों के मुंह

 

पहले लगाया शतक, फिर झटके 4 विकेट:-

सबसे पहले आपको बता दे की रियान पराग हाल ही में जूनियर एशिया कप में टीम इंडिया के अहम हिस्सा था और वहां उन्होंने काफी अच्छा प्रदर्शन किया था. वही, अब वो देवधर ट्रॉफ़ी में ईस्ट जोन की तरफ से खेल रहे है. अब उन्होंने इस टूर्नामेंट के 7 वें मैच में, जोकि नार्थ जोन के खिलाफ खेला गया उसमे कमाल का प्रदर्शन किया है.

इस मैच में पहले इन्होने महज 102 गेंदों पर 131 रन कूटे और कुमार कुशाग्र के साथ छठे विकेट के लिए 235 रन की पार्टनरशिप दी. जिसके बाद टीम का फाइनल स्कोर 50 ओवर्स में 337 रन तक पहुंचा. वही, जब विरोधी टीम इस स्कोर को हासिल करने के लिए मैदान में उतरी तब रियान ने गेंदबाजी करते हुए अपने 10 ओवर में 5.70 की इकॉनमी से महज 57 रन खर्च करके 4 विकेट हासिल किये और अपनी टीम को 88 रन से जीत दिलाई.

बनाया ये खास रिकॉर्ड:-

इसी के साथ रियान पराग ने अपने नाम एक ख़ास रिकॉर्ड भी बनाया. वो रिकॉर्ड देवधर ट्रॉफ़ी की एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के मारने वाला है. दरअसल, रियान ने अपनी शतकीय पारी में 11 छक्के लगाये, जिसके साथ ही रियान  देवधर ट्रॉफ़ी की एक पारी में सबसे ज्यादा छक्के मारने वाले बैटर भी बन गए.

Leave a Comment

I am associated with Cricket Reader as an Editor in Chief, since 2019. I have full dedication to write content on cricket analysis. I take care of all the news operations like content, budget, hiring and policy making.